मोटापा कम कैसे किया जाये – खाने का सही तरीका

वजन कम कैसे करें के लिये अगली मुख्य बात है खान पान के तरीके में बदलाव करना याने कि खाने का सही तरीका सीखना। जब हम सही तरीके से खाना खायेंगे या पेय पदार्थ पियेंगे तभी शरीर को ज्यादा फायदा होगा। मैं यहाँ पर कोई बहुत ही ज्यादा आधुनिक बातों को आपसे साझा नहीं करने वाला हूँ, मैंने जो भी किया है वह सब वैज्ञानिक तरीके से सही है और हमारे पाचन तंत्र को सही तरीके से काम करने में सहायता करता है, जिससे हमारा शरीर सही तत्वों को पाता है।

खाने का सही तरीका

खाने का सही तरीका

पहला भाग – (आगे पढ़ने से पहले यह जरूर पढ़ें) –

मोटापा कम कैसे किया जाये – मेरा अनुभव 20 किलो कम करने का

सबसे पहले हमने खाना खाने के तौर तरीकों को सीखा, यह डाईट शुरू करने के पहले की बात है। हम लोग जल्दबाजी में फटाफट खाना खा लेते हैं, खा लेते हैं यह कहना सही नहीं होगा, हम गटक लेते हैं। जिससे हमारे शरीर को पोषक तत्व मिल ही नहीं पाते हैं और खाने के पोषक तत्व हमारा शरीर पहचान नहीं पाता है और वह मल के द्वारा बाहर निकल जाते हैं।

हमारे शरीर की आंतरिक मशीन न परांठो को पहचानती है और न ही सब्जी को, हम कहते हैं कि फलाना सब्जी हमारी पसंदीदा है, परंतु वह केवल हमारे स्वाद के कारण होता है जबकि हमारी पाचन ग्रंथियाँ किसी भी खाने को नहीं पहचानती हैं, हमारी पाचन ग्रंथियाँ खाने से केवल एन्जाईम लेती हैं, और एन्जाईम सही तरीके से तब बनता है जब हम खाने के कौर को मुँह में रखकर पूरे बत्तीस बार चबाते हैं और हमारी लार उस खाने के कौर में मिलकर हमारी पाचन ग्रंथियों तक पहुँचती है। अगर हम खाने को चबायेंगे नहीं तो हमारा खाना हमारे पेट में बिना पहचाने जाने वाले तत्व के रूप में पहुँच जाता है और हमारे शरीर की मशीन इस प्रकार के पदार्थ को देखकर अचंभित रह जाती है और फिर भी जितना एन्जाईम ले सकती है लेती है और बाकी को अवशिष्ट मानकर मल की और भेज देती है।

मैं जानता हूँ कि बत्तीस बार चबाकर खाना बहुत आसान नहीं है, जितना कि आपको पढ़कर लग रहा है, अगर आपको आसान लगता है तो आप आज से ही हर समय जब भी खाना खायें, हर कौर को बत्तीस बार गिनकर चबायें, या फिर 3 बार गायत्री मंत्र कर लें, लगभग उतने समय में आप बत्तीस बार चबा लेंगे। बत्तीस बार चबाने पर खाना रस में परिवर्तित हो जाता है और हमारे शरीर की मशीन को जिस खाने को पहचानने की आदत है बिल्कुल उसी रूप में खाना शरीर को मिलेगा, और यकीन मानिये कि आपको 2 रोटी खाने में कम से कम 15 – 20 मिनिट का समय लगेगा, एक बार में केवल एक कौर तोड़ें, मुँह में रखें बत्तीस बार चबायें और जब तक मुँह में रखा कौर पूरा खत्म न हो जाये तब तक आप दूसरे कौर को न तोड़ें। यही तरीका हर खाने वाली चीज के साथ करें तो आपको समझ आ जायेगा कि हम खाना ज्यादा खा लेते हैं और जबकि हमारे शरीर को कम खाने की जरूरत होती है, कम खाने से हमें पहले से भी ज्यादा ऊर्जा मिलती है, बस खाने का तरीका बदलना होगा।

हम कितना खायें यह भी एक बड़ा प्रश्न है, हमें पता ही नहीं है कि हमें भूख मिटाने के लिये दरअसल कितना खाना चाहिये। यह हमारे मन पर निर्भर करता है जो कि पेट के लिये बहुत ही कठिनाई पैदा कर देता है। हमें हमारी सही भूख पता लगाने का सबसे आसान तरीका है कि हमें खाना खाने के बाद सुस्ती नहीं आनी चाहिये, अगर आप की भूख अभी चार रोटी से मिटती है तो पहले ही दिन आधी रोटी कम करें फिर अगले दिन एक रोटी, इस तरह से आप अपनी सही भूख पहचान पायेंगे, और बस ऊपर बताये गये नियम का पालन करें कि हर कौर को बत्तीस बार चबाना है। जब आप खाना खाना शुरू करते हैं तो आपको भोजन का स्वाद बहुत ही अच्छा लगेगा, परंतु धीरे धीरे उस स्वाद में स्वत: ही अंतर आता जायेगा, जब आपके लगे कि अब भोजन में पहले कौर वाला स्वाद नहीं है तो भी आप समझ सकते हैं कि अब आपको और भोजन करने की जरूरत नहीं है।

पेय पदार्थ को पीने के तरीके पर हम अगली पोस्ट में बात करेंगे और उसके बाद हम डाईट प्लॉन पर बात करेंगे।

9 thoughts on “मोटापा कम कैसे किया जाये – खाने का सही तरीका

  1. बिलकुल सही ,बचपन में यही सीखा था,पर भागादौड़ी वाली जिंदगी में सब गड़बड़ कर लिया ।फिर भी ,देर आए दुरुस्त आए

  2. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (01-02-2016) को “छद्म आधुनिकता” (चर्चा अंक-2239) पर भी होगी।

    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।

    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर…!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’

  3. आपके अनुभव आधारित सुझाव बहुत ही उपयोगी है , अच्छा लगा पढ़कर, आभार

  4. Bahut badiya. Badhai Aapko.
    Ek video hai Shri Rajeev Dixit ji ka 6 ghante ka video hai.
    Us video me bhi bahut kuch aapki hi baatein batayi hai. Jarur dekhe vo video.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *