रिलायंस जिओ का टेलीकॉम युद्ध

आज सुबह रिलायंस जिओ के प्लॉन समाचार पत्र में पढ़े तो देखकर ही दिमाग चकरघिन्नी हो गया। अब लगा कि रिलायंस जिओ, आईडिया एयरटेल की दुकानों पर भारी पड़ने वाला है, और रिलायंस जिओ का टेलीकॉम युद्ध शुरू हो गया है जो बाकी के सभी ऑपरेटर्स को बहुत भारी पड़ने वाला है, क्योंकि जिओ का सारा इन्फ्रास्ट्रक्चर नया है और उनकी कॉस्ट कम है, और बाकी के लोग हाथी हो चुके हैं। यहाँ तक कि इनके प्लॉन से अब ब्रॉडबैंड कंपनियों तक की बैंड बजने की उम्मीद है।

परसों ही ऑफिस के केन्टीन में लाईन से बैठे मोबाईल ऑपरेटर्स के डेस्कों पर गया और पूछने लगा कि अभी जो प्लॉन है, उससे मेरा काम नहीं चल रहा है। ज्यादा वाला प्लॉन बता दो, जिसमें लोकल और एस.टी.डी. दोनों ज्यादा हों, डाटा जितना है उतना ही चलेगा।

पहली डेस्क वोदाफोन जो अभी मेरा नेटवर्क ऑपरेटर है –

उनके प्लॉन देखे, तो कोई प्लॉन जमा ही नहीं, कहीं न कहीं कोई न कोई ट्रिक, ज्यादा कॉल्स तो डाटा प्लॉन में कमी, और डाटा ज्यादा तो कॉल में कमी। हमने कहा यार तुम लोग तो लूटने में ही लगे हो, और कितना निचोड़ोगे जनता को, थोड़ा तो शर्म करनी चाहिये और फिर ऊपर से कहते हो कि कार्पोरेट प्लॉन है। बंदा बोला सर मैं तो यहाँ केवल बेचने बैठा हूँ और ये सब नियम बनाने वाले तो ऊपर वाले लोग हैं, मैं तो आज वोदाफोन की डेस्क पर बैठा हूँ, कल अगर किसी और कंपनी से ज्यादा पैसे या फायदा मिलेगा तो मैं किसी और डेस्क पर बैठा मिलूँगा। उसकी बात सुनते ही हमारे चेहरे पर हँसी आ गई और उसकी सादगी से कही बात हमें भा गई, हमने कहा भई आईटी कंपनी के सान्निध्य में रहते हुए तुम पर भी असर हो गया है।

हम चले अगले डेस्क की और –

इस डेस्क पर कोई सिम नहीं, कोई डाटा कार्ड नहीं, केवल तरीके तरीके के पर्चे के साथ एक बंदा जो लुटा पिटा सा बैठा दिखा, यह काऊँटर रिलायन्स का था। शायद उसके पास कोई काम नहीं, हमने उससे पूछा, क्या हो गया तुम कुछ बेच नहीं रहे हो क्या ? वो बोला सर अभी रिलायंस में बहुत बदलाव आ रहे हैं और वो फ्री सिम केवल प्रीपैड में दे रहे हैं, जिसमें पहले 3 महीने सब कुछ अनंत अनंत मुफ्त है और फिर बहुत कम के रिचार्ज में सब कुछ वैसा ही यथावत रहेगा। पोस्टपैड भी जल्दी ही आयेगा, तो अभी के डाटा प्लॉन कोई नहीं ले रहा, सब मुफ्त ही चल रहा है। हमने एक प्लॉन पूछा और कहा कि ये बताओ इसमें 4जी डाटा अनलिमिटेड है क्या, वो बंदा बोला – सर अभी तो 1 जीबी के बाद शुल्क लगेगा, और अनलिमिटेड तो अन्य ऑपरेटर्स दे रहे हैं, 3जी और 2जी, हमारे रिलायंस में तो 3जी और 2जी बंद ही हो जायेगा केवल 4जी ही रहेगा। मैं तो ये सोच रहा हूँ कि रिलायंस की आँधी में 1-2 महीने बाद केवल मेरी डेस्क ही इस ऑफिस में न बचे और ये सब यहाँ से भाग जायें। या फिर ये लोग भी सब रिलायंस के प्लॉन बेचते दिखें। खैर अपनी काम नहीं हुआ।

अब चले अगले डेस्क पर – ये था टाटा डोकोमो –

तो बंदे का चेहरा देखते ही समझ आ रहा था कि इससे कोई कुछ खरीदता नहीं।

फिर चले अगले डेस्क पर – ये था आईडिया का –

तो कोई बंदा नहीं, बड़े बड़े पर्चे लगे हुए हैं, बहुत सस्ता प्लॉन है, पर हम इसके भुगतभोगी रह चुके हैं, आईडिया का कहीं सिग्नल ही नहीं आता तो 4जी की तो बात ही छोड़ दो, जब बात करना होती तो पहले तो वो एरिया ढूँढ़ो जहाँ और सिग्नल दिखें, अधिकतर समय मैं आऊट ऑफ कवरेज एरिया ही रहता था।

अब आखिरी डेस्क – ये था एयरटेल –

बंदा बैठा हुआ था, ग्राहक आया उसको कोई फर्क ही नहीं पड़ा, उसकी टेबल  सिम, डाटा कार्ड, फार्म, पर्चों से पूरी लबालब भरी हुई। वो बंदा अपने मोबाईल में नजरे गड़ाये कुछ कर रहा था, हम इंतजार में उसके डेस्क पर रखे पर्चे देखने लगे, और पाया कि सब प्लॉन बहुत महँगे हैं, अभी तक जितने भी देखे सबसे महँगे हैं, तो लगा कि भई ये तो वाकई लूटने के लिये बैठा है, और अपने सिग्नल और सर्विसेस पर इतना घमंड कि वो ग्राहक की तरफ देख भी नहीं रहा। खैर उसको मेरे ऊपर दया आई और उसने हमसे फोन पर कुछ करते हुए बात करना शुरू की, परंतु प्लॉन बहुत महँगे थे। सो हम निकल लिये।

आज सुबह जब समाचार पत्र में देखा कि रिलायंस जियो ने प्लॉन की घोषणा कर दी है और बड़ी बड़ी दिग्गज कंपनियों के शेयर धाराशायी हो गये हैं। अब देखते हैं कि ये पुरानी कंपनियाँ रिलायंस जिओ के टेलीकॉम युद्ध में क्या पैतरे अपनाती हैं।

2 thoughts on “रिलायंस जिओ का टेलीकॉम युद्ध

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (04-09-2016) को “आदमी बना रहा है मिसाइल” (चर्चा अंक-2455) पर भी होगी।

    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।

    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।

    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ
    सादर…!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *