हॉर्लिक्स में मौजूद माईक्रो न्यूट्रिशियन

हम हमेशा ही ब्लॉगर मीट के लिये तैयार रहते हैं, इंडीब्लॉगर मीट के तीन चार दिन पहले ही पता चला कि रविवार को विवांता ताज, जो कि महात्मा गाँधी सड़क पर है, रखा गया है। अभी बेटेलाल के विद्यालय की गर्मियों की छुट्टियों के कारण वे भी इस ब्लॉगर मीट में जाने को तैयार थे। हम दोनों ब्लॉगर चल पड़े, ब्लॉगर मीट के लिये घर से, और बिल्कुल समय से 4 बजे पहुँच भी गये।

हॉर्लिक्स ने यह ब्लॉगर मीट इंडीब्लॉगर के साथ रखी थी, जिसका नाम था The Horlicks Immunity Indiblogger Meet और जिसका हैशटैग #Immunity4Growth रखा गया था। जैसे ही हम मीटिंग में पहुँचे तो हमें अनूप और रैने से मिलने का अवसर मिला और जाने पहचाने पुराने ब्लॉगर, जो कि ब्लॉग में और ब्लॉगर मीट में मिलते ही रहते हैं।

मीटिंग हॉल में स्वागत के लिये आम रस हॉर्लिक्स के साथ दिया जा रहा था, रविवार के दिन को मदर्स डे ने और भी स्पेशल बना दिया था, वहाँ कई ब्लॉगर अपने छोटे बच्चों को भी लेकर आये थे। जब कुछ चुनिंदा ब्लॉगर्स जो कि उसी समय चुने गया उनको अपना परिचय देने के लिये कहा गया और मदर्स डे पर अपने विचार भी व्यक्त करने के लिये कहा गया। ब्लॉगर्स जो कि मम्मी भी हैं उन्होंने बताया ब्लॉगिंग ही तभी शुरू हुई जब मातृत्व उनके जीवन में आया, तो आने वाले विचारों को, खाने पीने के अनुभवों को ब्लॉगिंग के जरिये लिखना अच्छा लगा। एक ब्लॉगर डैडी भी थे जिन्होंने अपने छोटे बच्चे को गोदी ले रखा था और बताया कि आज मदर्स डे पर पूरा दिन बच्चे को मैं ही संभालूँगा। मातृत्व दिवस पर ब्लॉगर्स की बातें सुनकर अच्छा लग रहा था।

जिल कैसल जो कि बच्चों की अमेरिका में न्यूट्रिशियनिस्ट हैं, उनके प्रस्तुतीकरण और उद्बोधन से शुरु हुआ। जिल कैसल में बहुत सी बातें बताईं जो कि माईक्रो न्यूट्रिशियन की कमी से होने वाली विसंगतियों के बारे में थीं, और भारत में तेजी से फैलती माईक्रो न्यूट्रिशियन की कमी से होने की विस्तारपूर्वक जानकारी दी। इस प्रकार की जानकारियाँ साधारणतया: कोई भी नहीं देता, और हम आजकल इसी प्रकार की जानकारियाँ जुटा रहे हैं तो हमें जिल कैसल के द्वारा दी गई जानकारी से और फायदा हुआ। उन्होंने यह भी कहा कि विद्यालयों को भी जिम्मेदारी अपने ऊपर लेनी चाहिये, जिससे बच्चों का सम्पूर्ण विकास हो। हॉर्लिक्स में मौजूद माईक्रो न्यूट्रिशियन के बारे में विस्तार से जानकारी पता चली।

Horlicks

Horlicks Roles of Schools

रोज कितनी खुराक लेनी चाहिये इसके बारे में ज्यादा जानकारी के लिये हॉर्लिक्स के नंबर 8000980009 पर मिल कॉल भी दी जा सकती है या फिर Horlicks Nutrimeter पर जाकर भी जानकारी ले सकते हैं और ढ़ूँढ़ सकते हैं कि हमारी रोजाना दी जाने वाली खुराक में कोई कमी तो नहीं है, और अगर कोई कमी है तो हम उसे दूर कर सकते हैं।

फिर दूसरे सत्र में उत्पाद के बारे में जानकारी दी गई, पैनल डिस्कशन और सवाल जवाब का दौर हुआ। फिर सबसे मनोरंजक सत्र आया क्विज की, जिन लोगों ने ध्यान से सुना था, और बताई गई बातों के सारे फोटो भी खींच लिये थे, और गूगल की सहायता से भी कुछ उत्तर ढूँढ़ लिये गये। जीती गई टीम को फ्लिपकार्ट के वाउचर मिले। हमारी टीम दो प्रश्नों के सही उत्तर नहीं दे सकी।

आखिरी में सारे ब्लॉगर्स का ग्रुप फोटे हुआ और फिर भोजन का प्रबंध भी किया गया था। कई ब्लॉगर्स से बातें हुईं और भोजन करने के बाद हम घर जाने के लिये रवाना हुए तो हमें हॉर्लिक्स के गुडी बैग हॉर्लिक्स के डब्बों के साथ दिये गये। बाहर निकले तो बारिश शुरू ही हुई थी, सुहाने मौसम में घर जाने का आनंद दोगुना हो गया था, सबसे अच्छी बात यह थी कि हमारे ब्लॉगर बेटेलाल को सारी बातें अच्छी तरह से समझ में आ गई थीं।

One thought on “हॉर्लिक्स में मौजूद माईक्रो न्यूट्रिशियन

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *