झारखंड धनबाद का पहला दलित डॉन बन रहा है या यूँ भी कह सकते हैं कि बन चुका है। (First Dalit Don or Robin Hood – Dhulu Mahato)

झारखंड धनबाद का पहला दलित डॉन बन रहा है या यूँ भी कह सकते हैं कि बन चुका है।
परिचय है – धुलु महतो, उम्र ३५ वर्ष बाघमारा से विधायक हैं । धनबाद के कोयला क्षैत्र के उभरते हुए डॉन हैं। और इनकी कहानी भी किसी फ़िल्मी हीरो से कम नहीं है।
dhulu mahato
 [फ़ोटो द वीक पत्रिका के ऑनलाईन एडीशन से लिया गया है]
धुलु महतो का अपनी कमाई को अपने साथ काम करने वालों के साथ साझा करने के कारण वे बहुत लोकप्रिय हैं, कहा जाता है कि लगभग आधी कमाई वे अपने साथ काम करने वालों में बाँटते हैं, और उनकी रोज की कमाई लगभग २० लाख रुपये बताई जाती है, धुलु महतो इस बात को मानने से इंकार करते हैं, और कहते हैं कि भगवान करे मेरी कमाई और बड़ती जाये और २० लाख हो जाये।
इंटर पास करने के बाद भारत कुकिंग कोल लिमिटेड के सिनिधि कोलिरि में सन १९९४ में मजदूरी से काम करना शुरू किया था और जल्दी ही धुलु महतो मजदूरों के लोकप्रिय नेता बन गये, वे मजदुर जो कि रेल्वे वेगनों और ट्रक में कोयले की खदान से कोयला ढ़ोते थे। सन २००० में राबड़ी सरकार के एक मंत्री समरेश सिंह ने उनका प्रभाव देखा और धुलु महतो को चीता फ़ोर्स का प्रमुख बना दिया। यह एक ऐसा ग्रुप था जो कि समरेश सिंह के लिये कोयला खदान क्षैत्र से “टैक्स” याने कि उगाही का काम करता था। और पुलिस जब भी चीता फ़ोर्स के लोगों को रंगदारी लेने के जुर्म में ले जाती तो धुलु महतो पुलिस पर दबाब बनाकर उनको छुड़ा लाता था।
सन २००५ में बाघमारा से धुलु महतो ने झारखंड वनांचल कांग्रेस से विधायक के लिये चुनाव लड़ा और हार का सामना करना पड़ा परंतु धुलु को मिले वोटों की संख्या जो कि २५,००० थी, से सब चकित थे। सन २००९ में ठीक चुनाव के पहले भूतपूर्व मुखयमंत्री बाबूलाल मरांडी की झारखंड विकास मोर्चा में आ गये और वापस से बाघमारा से चुनाव लड़ा और सरकार में मंत्री रहे और लगातार दो बार के विधायक रहे जलेश्वर महतो को लगभग ३०,००० वोटों से हरा दिया। जलेश्वर महतो का तो यह भी कहना है कि धुलु महतो स्थानीय प्रशासन और पुलिस के सहयोग से कोयला कंपनी को लूट कर कंगाल कर रहे हैं।
लेकिन लोग धुलु महतो को वहाँ का रॉबिनहुड कहते हैं, जब वे अपनी टोयोटो फ़ोर्चूनर में कहीं जाते हैं तो एक दर्जन से ज्यादा गाड़ीयाँ उनके आसपास रहती हैं। कहा जाता है कि जब उनकी पत्नी सावित्री देवी धनबाद के मेयर का पर्चा दाखिल करने गईं थीं तो लगभग ३०,००० बाईक सवार उनके समर्थन में उनके साथ गये थे, हालांकि सावित्री देवी का नामांकन ३० वर्ष से कम उम्र होने के कारण रद्द कर दिया गया था। पर इससे धुलु महतो के प्रभाव की झलक देखने को मिलती है।
जानकार बताते हैं कि अगर धुलु महतो का प्रभाव इसी तरह बड़ता रहा तो जल्दी ही सुरेश सिंह जो कि अभी धनबाद का डॉन है, का प्रभुत्व खत्म हो सकता है। धनबाद के ५० खदानों में से २५ खदानों पर धुलु महतो का राज चलता है, यह कहना है भाजपा के नेता कुमार अभिषेक का, उनका तो यह भी कहना है कि धुलु महतो ने एक दर्जन एके-४७ और एके-५७ कोलकाता से खरीदी हैं।
एक भा.कु.को.लि. के अधिकारी का कहना है कि हर माह धुलु महतो अपने विधानसभा क्षैत्र से लगभग २०,००० टन कोयला खदानों से फ़्लोर प्राईज पर लेते हैं, और यह लगभग पिछले दो वर्षों से चल रहा है, धुलु हर टन पर १,२०० रुपये बनाते हैं। धुलु महतो की शिकायत कई बार उच्च पुलिस अधिकारियों से की गई परंतु कोई कार्यवाही नहीं की गई, यह कहना है भाजपा सांसद पी.एन.सिंह का।
पुलिस का कहना है कि धुलु महतो बिल्कुल साफ़ हैं उनका कभी भी किसी भी खून, अपहरण या बलात्कार में हाथ नहीं रहा है। धुलु महतो एक ऐसे डॉन हैं या बन रहे हैं जो कि धनबाद के गरीबों के लिये काम कर रहे हैं और उनकी मदद कर रहे हैं। धुलु महतो भी कहते हैं कि मैं कोई अपराधी नहीं हूँ। मैं एक बहुत ही साधारण इंसान हूँ और मेरा धन बनाने वाली गतिविधियों से कोई सारोकार नहीं है, जबकि मेरे विरोधी कहते हैं कि मैं इन सबमें शामिल हूँ। यहाँ तक कि मेरी डॉन बनने की कोई इच्छा भी नहीं है। परंतु हाँ मैं यह कहता हूँ कि मेरी चीता फ़ोर्स उनको जरूर ठीक करेगी जो कि गरीबों को परेशान करते हैं।
सूत्रों के अनुसार धुलु महतो के बढ़ते प्रभाव ने उनके दुश्मनों को भी एक कर दिया है।
धुलु महतो का धनबाद और आसपास के क्षैत्र में प्रभाव बड़ता ही जा रहा है
[यह लेख द वीक में छपे लेख पर आधारित है, जो कि ३१ अक्टूबर को द वीक पत्रिका में छपा है]

21 thoughts on “झारखंड धनबाद का पहला दलित डॉन बन रहा है या यूँ भी कह सकते हैं कि बन चुका है। (First Dalit Don or Robin Hood – Dhulu Mahato)

  1. बेशक इस डॉन ने कोई दूसरे जघन्य अपराध नहीं किये हों पर प्राकृतिक संसाधनों का दोहन तो कर ही रहा है| यदि इसका यह सब करना जायज है तो फिर रेड्डी बंधुओं को भी छोड़ देना चाहिए उन्होंने भी तो कोई हत्या,लूटपाट,बलात्कार नहीं किया सिर्फ देश संसाधनों को ही तो लुटा है|

    Gyan Darpan
    Matrimonial Service

  2. तय नहीं कर पा रहा हूँ कि 'द वीक' के इस प्रकाशन को क्‍या कहा जाय – अपराधी की सार्वजनिक जनकारी, अपराधी से सचेत रहने की चेतावनी, अपराध और अपराधी का महिमामण्‍डन या पुलिस के रूख की प्रतीक्षा की सलाह?

  3. DHULU da 'DON' Nahin hai, han kuch DON ko zarur daba ke rakha hai… Agar aisa karne ka matlab DON banna hota hai toh phir DON hi sahi. Garibo ke liye apne dil me jagah rahkte hain. Unhone jo bhi hasil kiya, apne DUM pe (Dimag aur Himmat)ke bal pe.
    Hum kabhi unke kafi karib the, jab woh sirf ek garib ka BETA tha. Yash pana har kisi ke bas main nahin hain.
    Bus Dada purane Dino ko na Bhoolein.

    KEEP it UP Dada

    Rajeev Mitra

  4. jo log aisa sochte h ki MLA ji dhanbad k don bante ja rahe h. actually,aise logo k man ek dar sa baith gaya h,kyuki DHULU MAHTO to garibo ka masihha h,jab logo ka pyar aapke liye umarne lga, tab kuch bure logo ko ye aachha nahi lagne lga aur un logo ne aapko pareshan karna shuru kiya.lekin wo log ab tak success nahi ho paye apne galat irado me.shayad wo ye nahi jaante h ki jo log aache hote h unke saath kavi kuch bura nahi hota h.

    your loving daughter
    N……

  5. AAJ BHALE HI DHULLU MAHTO JAIL ME BAND HO LAKIN SAMAY AANE PER HAR VEKTI KI MADAD KARTA .JO AAJ DEKHA JA RAHA HAI.HAR PARTY KE LOG MILNE AA RAHE HAI.WO HAMESHA DUSRO KE MADAD KE LIYE TAIYAR RAHTE HAI.

  6. Log darte hai ki kahi Dhullu mahto ke chalte inlogo ki tanasahi khatam na ho jaye…….Agar ye Don garibo ka madadgar hai to Hume is Don ki hi jarurat hai is Desh or Rajya ko chalane ke liye…

    Regards..

    Hublal mahato (Director)
    Dhanbad Institute Of Technology (Trust)

  7. MLA kya hota h DHULU MAHTO se sikho ……jo poor logo ka help karta h ?uske upper only case hota h ??!!!! If DHULU MAHTO help karna chore diye !! TO PAKKA bol rhe h DHANBAND gaya!!..

    ..YOUR ..SON..
    (N)

    • Dhullu boss ke maa ko salam,Jo aise lal ko janam diya he,Jo dushro ke khatir apni hr khusi kurban Kr diya,aaj apna Bhai apna nhi hota he,or ye mahan insan dusro keliye 11mahino tk jail me bitaya.Jo mere dhullu boss ke khilaf agar koi galat bolega to mai uski aankhe phod dunga. I proud u…my boss……………….(Raju Sharma) ghorathi,Dhanbad

  8. ढूल्लु महतो गरीब के लिए मसीहा है। ओर वे किसी शेर से कम नही । इसलिए जनता उन्हें इतना चाहती है।

  9. ढूल्लु महतो गरीब के लिए मसीहा है। ओर वे किसी शेर से कम नही । इसलिए जनता उन्हें इतना चाहती है।।।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *