दूसरे देस में आने के बाद विचारों का परिवर्तन

    दूसरे देस जाने की इच्छा किसकी नहीं होती, हर कोई दूसरे देस का अनुभव लेना चाहता है, हम भी जून २०१२ से दूसरे देस को लगातार देख रहे हैं, और अपनी जिंदगी एक अनुभव को समृद्ध कर रहे हैं। कई नये प्रकार के लोगों से परिचय हुआ, कई नई संस्कृतियों को करीब से देख […]
Continue reading…

 

एटीएम का उपयोग करते समय सतर्क रहें (Cash retraction facility withdrawn by RBI in India)

    काम में व्यस्तता के कारण यह पोस्ट लिखने में थोड़ी देर हो गई। कुछ दिनों पहले एटीएम की टेस्टिंग के दौरान ऐसे ही cash retraction facility पर चर्चा हो रही थी, तभी भारत के एटीएम की कार्यप्रणाली पर भी चर्चा हो रही थी।     यह सुविधा भारत में हरेक एटीएम में थी परंतु रिजर्व […]
Continue reading…

 

मैं तुम और जीवन (मेरी कविता …. विवेक रस्तोगी)

मैं तुम्हारी आत्मीयता से गदगद हूँ मैं तुम्हारे प्रेम से ओतप्रोत हूँ इस प्यार के अंकुर को और पनपने दो तुममें विलीन होने को मैं तत्पर हूँ।तुम्हारे प्रेम से मुझे जो शक्ति मिली है तुम्हें पाने से मुझे जो भक्ति मिली है इस संसार को मैं कैसे बताऊँ तुम्हें पाने के लिये मैंने कितनी मन्नतें […]
Continue reading…

 

कभी कभी चैट से भी खुशियाँ दिल को बाग बाग कर देती हैं ।

    जिंदगी मुश्किल का दूसरा नाम है और जो मुश्किलों का सामना डटकर करते हैं, वे अपने आप में हरफ़नमौला होते हैं। सहनशीलता जिनमें होती है वे एक ना एक दिन अपने लक्ष्य पर जरूर पहुँचते हैं, सफ़लता उनके कदम चूमती है। मुश्किलों से घबराकर जो जीवन के सामने अपने हथियार डाल दे वे बुजदिल […]
Continue reading…

 

वीडियो चैटिंग ब्लैकबैरी प्लेबुक से (Video Chat for Blackberry Playbook via AIM & AOL)

कल से वीडियो चैटिंग के लिये लगे हुए थे, कैसे कम्प्य़ूटर और ब्लैकबैरी प्लेबुक के मध्य वीडियो चैटिंग हो, इसके लिये ऐसे सॉफ़्टवेयर उत्पाद की जरूरत महसूस हो रही थी जिसमें किसी भी डिवाइस पर सॉफ़्टवेयर संस्थापित न करना पड़े। इसमें आज हमें सफ़लता भी मिली । www.aim.com इसमें बिना संस्थापन के भी सीधे वेबसाईट […]
Continue reading…

 

कम उम्र में मानसिक तनाव के कारण बड़ रहीं शारीरिक समस्याएँ

इस भागती दौड़ती दुनिया में तनाव बड़ता ही जा रहा है, कुछ शारीरिक समस्याएँ वर्षों पहले कुछ उम्र के बाद होती थीं याने कि लगभग ५० वर्ष के बाद होती थीं । अब वे शारीरिक समस्याएँ तेजी से कम उम्र की अवस्था में होने लगी हैं। सब कहते हैं कि स्वस्थ्य जीवन जीना चाहिये, सबकी […]
Continue reading…

 

तीन निबंध बच्चों के लिये (बालश्रमिकों से छिनता बचपन, एक दिन जब में विकलांगों के शिविर में गया और देश में हजारों अन्नाओं की जरूरत है ।)

बालश्रमिकों से छिनता बचपन आजकल बाल श्रम कानून की खुलेआम धज्जियां उड़ती दिखाई देती हैं। जिसमें बाल श्रमिकों का बचपन छिनता जा रहा है। पेट की आग शांत करने के लिए बच्चे झूठे बर्तन धो रहे होते हैं। लेकिन बाल श्रमिक को बचाने के लिए कोई भी ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है। सड़क […]
Continue reading…

 

पैसे पेड़ पर उगते हैं पता बता रहे हमारे बेटे लाल…

जब हम घर पर रहते हैं तो बेटेलाल को हम ही सुबह उठाते हैं, और कुछ संवाद भी हो जाते हैं, कुछ दिनों पहले महाराज अपनी एक किताब गुमा आये और अब बोल रहे हैं कि पैसे दे दीजिये हम नई किताब खरीद लायेंगे। अपनी आदत के अनुसार हमने कह दिया “पैसे पेड़ पर नहीं […]
Continue reading…

 

बनाना रिपब्लिक और मैंगो पीपल ( देखें वीडियो पहली बार )

देश की सबसे बड़ी राजनैतिक दल के दामाद याने कि देश के दामाद पर इन दिनों बहुत बड़े बड़े आरोपों की बौछार हो रही है। हम भी सोचते हैं कि काश कि अपने भी कुछ लाख रूपये के इतने ही अनुपात में मात्र ३ वर्ष में करोड़ों रुपया हो जाता, जिस तरह से इन साब […]
Continue reading…

 

पापा प्लीज आज मत जाओ और आज यहीं रहो

    हमारे एक मित्र हैं जो कि आजकल नौकरी के कारण परिवार के साथ अलग रह रहे हैं। उनकी एक प्यारी सी बिटिया है जो कि लगभग ५ वर्ष की होगी। बिटिया अपने पापा को बहुत याद करती है। हमारे मित्र को अधिकतर व्यापारिक यात्राओं पर ही रहना होता है जिस कारण से परिवार को […]
Continue reading…